यह भी पढ़ें:

You'll Also Like

My other Blogs

बुधवार, 28 फ़रवरी 2018

कुछ काम अब तो कर लो बलम...



‘कुछ काम अब तो कर लो बलम,

बंद करा क्यूं ग्यूं चावल हमरा, गुझिया हुंणी चीनी दिला दो बलम,

खाली खजाना जेब भी खाली-करने वाले जेल चलें,

मुख पे मलो उनके कालो डीजल, भ्रष्टाचार की होरी जलें,

औरों पर तो बहुत चलाई, कुछ खुद पर भी तो चला दो कलम,

कुछ काम अब तो कर लो बलम’

नवीन जोशी, 'नवेंदु'

यह भी पढ़ें : सदियों पुरानी सांस्कृतिक विरासत है कुमाउनी शास्त्रीय होली

1 टिप्पणी:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति
    होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं